सर्व शक्तिमते परमात्मने श्री रामाय नमः 

परम पूज्य गुरुदेव  ब्रह्मलीन श्री स्वामी सत्यानन्द जी महाराज

के परम शिष्य

परम पूज्य भगत हंसराज जी महाराज (पूज्य पिताजी)

 

गुरूवार, 4 सितम्बर 2014 को ब्रह्मुहुर्त काल प्रातः 3.15, श्री राम शरणम् गोहाना में राम-राम का सिमरन करते हुए साकार चोले को त्याग निराकार परमेश्वर श्री राम में विलीन हो गए हैं।

  देश विदेश से आये साधकों ने महाराज के अंतिम दर्शन कर उन्हें अपने श्रद्धा-सुमन अर्पित किये | महाराज की पावन देह को शुक्रवार 5 सितम्बर, श्री राम शरणम् आश्रम गोहाना में, हज़ारों साधकों की उपस्तिथि में,  राम-राम का जाप करते हुए, पवित्र अग्नि को समर्पित कर दिया गया है । परम पूज्य पिताजी महाराज के महासमाधि के उपरांत, श्रद्धांजलि सत्संग का कार्यक्रम: श्री राम शरणम् गोहाना : 6 सितम्बर से 14  सितम्बर तक का कार्यक्रम
  • प्रातः 5.15 से 6.00 : अमृतवाणी पाठ
  • प्रातः 11.00 से 12.00 : श्रीमद भगवद्गीता पाठ
  • साय: 8.15 से 9.00: श्रीमद भगवद्गीता पाठ
  • अखण्ड जाप (6-सितम्बर से 14-सितम्बर )
  • महाराज के अस्थि कलश के दर्शन (10 सितम्बर तक)
  • पूज्य कृषणजी एवं पूज्य रेखाजी से मिलने का समय : प्रातः 9 से 11 एवं साय 4 से 6 बजे तक
प्रार्थना सभा एवं अस्थि विसर्जन: गुरूवार 11 सितम्बर नीलधारा ध्यान कुण्ड , हरिद्धार   दोपहर 12.00 बजे प्रार्थना सभा एवं श्रद्धांजलि समारोह, रविवार, 14 सितम्बर , श्री राम शरणम् गोहाना ,    दोपहर 1.30 से 3.00 बजे तक होगा   परम धाम श्री राम शरणम् डलहौजी गुरूवार 18 सितम्बर से शनिवार 20 सितम्बर अखण्ड जाप, ध्यान एवं अमृतवाणी संकीर्तन

Subscribe to Newsletter

Name:
   
© 2011-12 Sri Ram Sharnam